Tuesday, March 25, 2008

yeh waqt bhi beet jayega...

[its from where i started writing in hindi is my first love my first hindi poem was written in 4th grade so its not eligible to be posted.posting some which are a bit mature i think.
and yes this poem was written after my 10th]

यह वक्त भी बीत जाएगा...


यह वक्त भी बीत जाएगा,
हमारी मंजिले अलग होंगी,
रस्ते अलग हो जायेंगे.
हम सब अपनी रह पर निकल पड़ेंगे,
अपनी सफलता की खोज करेंगे.
साथ हमारा टूट जाएगा,
हाथ हमारे छुट जायेंगे.
हमारी बातें हमारी दोस्ती कही गम हो जायेंगे,
हम,हम से मैं और तुम बन जायेंगे.
इतिहास के अध्यायों की तरह अपनी दोस्ती को याद करेंगे,
फ़िर से मिलने की फरियाद किया करेंगे.
यह रूठना ये मानना सब खो जायेंगे,
हम सब अलग अलग हो जायेंगे.
विचार अलग होंगे विचारधारा अलग होंगी,
नज़र अलग होंगे नजरिया अलग होगा.
एक दुसरे से बात किए बिना एक दिन नही गुजार पाते,
न जाने ऐसे गुज़र जायेंगे कितने दिन और रातें.
यह वक्त भी बीत जाएगा,
हम फ़िर मिलेंगे कही,
करेंगे बातें सारी पुरानी,
सुनेंगे अपनी अपनी कहानी,
आज एक पढ़ की शाखा है,
कल हम ख़ुद एक पढ़ बन जायेंगे,
आज हिस्सा है एक ही कहानी क,
कल अपनी अलग कहानी होगी,
पर वादा हम करते है जब हमे एक दुसरे की याद आया करेगी
टैब इन दिनों क खातिर कुछ आंसू बहा लिया करेंगे,
कुछ आंसू बहा लिया करेंगे.....

2 comments:

oshan said...

hw did u put in hindi...newayz nice1...

tejasbaldev said...

ur first one.. and de best one..! too good..!